Thursday, 2 October 2014

और ३२ साल बाद ये सुनहरा गोल

एक प्रयास ---------

और ३२ साल बाद ये सुनहरा गोल
  
जीत गया भारत एक और स्वर्ण! बधाई पूरी हाकी टीम को 
बधाई हर भारत वासी को 
समय सही हो तो सब अच्छा होता है
लग रहा है हर क्षेत्र में भारत का खोया गौरव लौट रहा है .......
भारत ने फ़ाइनल में पाकिस्तान को पेनल्टी शूटआउट में 4-2 से राया. 
इसी के साथ भारत 2016 रियो ओलंपिक खेलों की अग्नि परीक्षा पास कर योग्य साबित हुआ और ओलिम्पिक में सीधा प्रवेश पा गया कर गया है...
चिर परिचित प्रतिद्वंदी के साथ जीत का स्वाद और बढ़ जाता है
भारतीय जीत के हीरो रहे गोलकीपर श्रीजेश रविंद्रन.

भारत ने पिछली बार 1998 में एशियाई खेलों में गोल्ड मेडल जीता था.
तब भी निर्धारित समय व ओवरटाइम के बाद में दोनों टीमों 
(भारत और दक्षिण कोरिया) 
का स्कोर 1-1 से ही बराबरी पर रहा था और पेनल्टी शूटआउट से निकला नतीजा भी 
वही 4-2 का स्कोर था जिससे भारतीय टीम इस बार जीती है।

इससे पहले दोनों टीमें (भारत और पकिस्तान) हॉकी के फ़ाइनल में दिल्ली में एशियाई खेलों में आमने-सामने थीं. 
वो मैच भारतीय हॉकी को निराशा दे गया था 
दिल्ली के शिवाजी स्टेडियम में पाकिस्तान ने भारत को सात-एक गोल से परास्त किया था.
लेकिन आज सब हिसाब करते हुए भारत ने विजय पायी 

समय सही हो तो सब अच्छा होता है 
लग रहा है हर क्षेत्र में भारत का खोया गौरव लौट रहा है ...........

बधाई भारत की महिला हाकी टीम को भी खाली हाथ तो नहीं लौट रही
उसने भी जापान को परास्त कर कांस्य जीता ...




एक बार फिर से सबको बधाई ....:)
वन्दे मातरम

3 comments:

  1. आपकी लिखी रचना शनिवार 04 अक्टूबर 2014 को लिंक की जाएगी........... http://nayi-purani-halchal.blogspot.in आप भी आइएगा ....धन्यवाद!

    ReplyDelete
    Replies
    1. आपका आभार यशोदा जी :)

      Delete

आपके आगमन पर आपका स्वागत है .......
आपके विचार हमारे लिए अनमोल है .............